किसान काले टमाटर की खेती कर के नॉट गिन गिन के थक जाएंगे

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
5/5 - (3 votes)

आज के इस आर्टिकल में एक ऐसी फसल की बात करेंगे की कम किसान बंधु ने इस की खेती के बारे में कम सुना होगा, हमने लाल रंग के टमाटर बहुत देखे है। पर आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से काले टमाटर की खेती (Black Tomato Ki Farming) के बारे में विस्तार से जानेंगे।

Black Tomato Ki Farming

काले टमाटर को कई लोग इंडिगो रोज टमाटर के नाम से भी जानते है, और इस काले टमाटर की खेती विश्व के देशों में सौ प्रथम इंग्लैंड में हुई थी । इन की खेती सर्व प्रथम रे ब्राउन ने की थी ।

आज कल बाजार में काले रंग के टमाटर भी बहुत दिखने लगे है, और बिकते भी अधिक है। इस लाल टमाटर में भी कई गुण है पर काले टमाटर तो गुणों के भंडार है

अगर आप भी इस काले टमाटर की खेती करना चाहते है तो आप सही आर्टिकल पर आए है, इस आर्टिकल में हम काले टमाटर की खेती कब और कैसे करे इन के बारे में अधिक जानकारीप्राप्त करेंगे।

आज हम बतादे की लाल टमाटर के बाद काले टमाटर की मांग बाजार में ज्यादा है, इस काले टमाटर में पोटैशियम, विटामिन सी, फाइबर, कैल्शियम, फास्फोरस आदि पोषक तत्व पाए जाता है।

काले टमाटर की एक अलग ही पहचान है इन के वजे से बाजार में धूम मची है। इन की एक और भी खासियत है की वे कैंसर जैसे गंभीर रोग के इलाज में भी इन का अधिक उपयोग होता है क्यों की इन में एंटी ऑक्सीडेंट भी पाए जाता है।

काले टमाटर इन के अलावा भी कई बीमारी और कई रोग के। सामने लड़ने में कारगर साबित हुआ है,

काले टमाटर को रे ब्राउन ने जेनेटिक म्यूटेशन द्वारा तैयार किया था, इस काले टमाटर की खेती आज के जमाने में भारत में भी की जाती है इस (Kale Tamatar Ki Kheti) युरोप में इन को सुपर फ्रूट के नाम से भी जाना जाता है।

इंडिगो रोज रेड एवं बैंगन टमाटर के बीज को संकरण कर के बीज तैयार किया है, इन में से हाइब्रिड टमाटर हुआ को काले टमाटर के नाम से जाना जाता है।

काले टमाटर की खेती को अनुरूप जलवायु और तापमान

हमारे देश भारत की जलवायु और वातावरण काले टमाटर की खेती के लिए बहुत अच्छी है, इस काले टमाटर की खेती भी अन्य टमाटर की खेती की तरह ही की जाती है।

काले टमाटर की खेती गर्म जलवायु में भी अच्छे से किसान कर शक्ति है और अधिक पैदावार भी प्राप्त कर शक्ति है, इन की खेती ठंडे जलवायु या ठंडे विस्तार में नही करनी चाहिए क्यों की वहा पैदावार कम मिलती है।

काले टमाटर की खेती में जमीन का पी.एच. मान 5.5 से 7 के मध्य का अच्छा माना जाता है, इन की फसल में टमाटर के फल भी बहुत देर से आते है ।

लाल टमाटर में फल जल्द आते है पर काले टमाटर में पैदावार भी अधिक आती है पर वे देर से आती है, काले टमाटर की फसल की बुवाई जनवरी महीने में कर शकते है।

काले टमाटर की फसल की बुवाई जनवरी महीने में करने से मार्च महीने में या अप्रैल महीने में इन की बंपर पैदावार मिलती है।

काले टमाटर की खासियत क्या क्या है?

काले टमाटर में कई पोषक तत्व और अधिक ओषोधिक गुण मौजूद होता है, इन काले टमाटर को लाल टमाटर से अधिक दिन तक ताजा रखा जाता है।

इस टमाटर में मौजूदा पोषक तत्व और काले रंग के होने के कारण इन की मांग भी बाजार में लाल टमाटर से अधिक होती है, इस लिए इन के दाम भी बाजार में अच्छे मिलते है।

काले टमाटर का सेवन रोजाना कर के कई रोग और बीमारी से राहत और शुटकारा भी पाया जाता है, इन के सेवन से वजन भी कम कर सकते है, इन के अलावा शुगर और कोलेस्ट्रोल को भी कम करता है।

काले टमाटर को कच्चा और पक्का दोनो को खा शकते है इन का स्वाद बहुत अच्छा होता है और खाने में भी बड़ा स्वादिष्ट होता है।

काले टमाटर की खेती कर के कितना लाभ होता है?

काले टमाटर की खेती में भी इतना खर्च होता है जैसे की लाल टमाटर की खेती में होता है, किंतु लाल टमाटर के बीज थोड़ा सस्ता मिलता है पर काले टमाटर के बीज थोड़ा महंगा होता है।

काले टमाटर की खेती एक हैक्टर में करे तो बंपर उत्पादन के साथ 4.5 से 5 लाख तक की कमाई कर शकते है, इन की खेती में टमाटर के फल की पैकिंग और ब्रांडिग के कारण कमाई अधिक होती है।

काले टमाटर को अच्छे से पैकिंग कर के कई दूर शहर में बिक ने के लिए भेज शकते है, और अधिक मुनाफा भी कर शकते है।

अन्य भी पढ़े

FAQ’s

काले टमाटर की खेती कैसे करें?

काले टमाटर की खेती में दो से तीन बार गहरी जुताई कर के इन खेती की मिट्टी भरभूरी कर लेनी चाहिए बाद में नर्सरी से काले टमाटर को पौधे खरीद के मुख्य खेती में योग्य अंतर पर रोपाई कर शकते है।

टमाटर की उन्नत किस्मे कौन कौन सी है?

टमाटर की उन्नत किस्मे आज के ज़माने में कई सारी है जैसे की पूसा शीतल, पूसा रूबी, पूसा हाइब्रिड 1, अर्का विकास, अविनाश 2 , आदि टमाटर की प्रसिद्ध किस्मे है।

कले टमाटर में फल कब आते है?

काले टमाटर में फल लाल टमाटर से थोड़े देर से आता है पर काले टमाटर में फल बहुत अधिक आते है।

काले टमाटर की खेती कौन से महीने में की जाती है?

काले टमाटर की खेती जनवरी महीने में की जाती है और मार्च एवं अप्रैल महीने में फल के रूप में टमाटर देने लगते है।

काले टमाटर को कौन सी जलवायु अनुकूल आती है?

काले टमाटर की फसल गर्म जलवायु में अच्छे से वृद्धि करती है और पैदावार भी बहुत मिलती है।

सारांश

नमस्ते किशान बंधू इस आर्टिकल के माध्यम से आपको काले टमाटर की खेती (Black Tomato Ki Farming) के बारे में बारीक़ से जानकारी मिली होगी।

हमे उम्मीद है कि, आपको हमारा यह आर्टिकल बेहद पसंद आया होगा जिसके लिए आप हमारे इस आर्टिकल को अपने दोस्त एवं किसान भाई को शेयर जरूर करे।

काले टमाटर की खेती (Kale Tamatar Ki Kheti) में ए आर्टिकल आप को बहुत हेल्पफुल होगा इस लिए इस आर्टिकल को लाईक, शेयर एवं कमेंट करेगे।

इस लेख को किसान के साथ शेयर करे...

नमस्कार किसान मित्रो, में Mavji Shekh आपका “iKhedutPutra” ब्लॉग पर तहेदिल से स्वागत करता हूँ। मैं अपने बारे में बताऊ तो मैंने अपना ग्रेजुएशन B.SC Agri में जूनागढ़ गुजरात से पूरा किया है। फ़िलहाल में अपना काम फार्मिंग के साथ साथ एग्रीकल्चर ब्लॉग पर किसानो को हेल्पफुल कंटेंट लिखता हु।

Leave a Comment

buttom-ads (1)