मिर्च की फसल में घातक कीट जो फसल को बर्बाद कर देती है जाने इन का उपचार

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Rate this post
Mirch Ki Fasal Me Pramukh Rog Kit

मिर्च की फसल में प्रमुख रोग कीट (Mirch Ki Fasal Me Pramukh Rog Kit) : मिर्च उत्पादन में हमारा देश भारत प्रथम स्थान पर है इन के बाद विश्व के देशो में चीन और पाकिस्तान का नंबर है। पर हमारे देश भारत के आंध्र प्रदेश, उड़ीसा, महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात, कर्नाटक, तमिलनाडु, उतर प्रदेश बिहार आदि राज्य में मिर्च की खेती बड़े स्तर पर किसान करते है।

मिर्च का इस्तेमाल विविध सब्जियों का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है इन के अलावा अचार, करी, चटनी, आदि में भी मिर्च का इस्तेमाल किया जाता है। मिर्च को आप हरे और सुखी लाल मिर्च का पावडर बना के बेच शकते है। पर मिर्च की फसल में कुछ खतरनाक रोग और कीट अटैक करते है जो सही समय पर इन का नियंत्रण नहीं किया तो मिर्च की फसल बर्बाद हो जाती है और इन की सीधी असर आप के उत्पादन पर पड़ती है।

आज के इस ikhedutputra.Com के इस आर्टिकल में हम जानेंगे की मिर्च की फसल में प्रमुख रोग कीट (Mirch Ki Fasal Me Pramukh Rog Kit) और इन की पहचान कैसे करें इन के सही समय पर नियंत्रण कैसे करें इन सभी बाते पर विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे। इस लिए आप हमारे साथ इस आर्टिकल के अंत तक बने रहे।

मिर्च की फसल में प्रमुख रोग कीट (Mirch Ki Fasal Me Pramukh Rog Kit)

वर्तमान समय में जलवायु के परिवर्तन से मिर्च की फसल में कई सारे रोग और कीट अटैक करते है इन के नियंत्रण के लिए किसान विविध दवाई का छिड़काव करते है। इन्ही के कारण मिर्च बहुत महंगी बाजार में मिलती है। पर मिर्च की फसल में कोई रोग और कीट का अटैक होने के साथ ही इन की पहचान कर्ली जाए और इन का उपचार भी हो जाए तो उत्पादन अधिक और लागत भी कम होती है। और लागत कम होने से किसान को मुनाफा अधिक प्राप्त होता है।

मिर्च की फसल में प्रमुख कीट की बात करें तो फल छेदक इल्ली, थ्रिप्स और माहो, सफ़ेद मक्खी यह सब कीट मिर्च की फसल को बहुत नुकशान पहुंचते है इन की पहचान और इन के नियंत्रण की दवाई आप को मिल जाती है तब आप मिर्च के पौधे को कीट मुख्त और फसल बर्बाद होने से बचा शकते है और अधिक उत्पादन के साथ बंपर मुनाफा प्राप्त कर शकते है।

फल छेदक इल्ली : मिर्च की फसल में यह फल छेदक इल्ली मिर्च के फल पर अटैक करते है और इन फल को काट के नुकशान पहुंचते है इन के नियंत्रण के लिए आप नीम तेल 16 लीटर पानी में 30 से 35 मिली और इन के साथ इंडोक्साकार्ब 15 मिली अच्छे से घोल के मिर्च की फसल में अच्छे से छिड़काव करना चाहिए।

थ्रिप्स और माहो : मिर्च की फसल में जब थ्रिप्स और महू का अटैक होता है तब पौधे की पतिया ऊपर की तरफ नाव के आकार में मूड जाती है और महू का अधिक प्रकोप है तो निचे की तरह मूड जाती है। यह थ्रिप्स और माहू बहुत छोटे होते है। इन्हे नारी आंखे देखना भी बहुत मश्किल है। इन के नियंत्रण के लिए आप नीम तेल 30 से 35 मिली और इमिडाक्लोप्रिड 5 से 7 मिली 16 लीटर पानी में अच्छे से घोल के मिर्च की फसल पर छिड़काव करें।

सफ़ेद मक्खी : मिर्च के पौधे पर जब सफ़ेद मक्खी अटैक करती है तब यह मक्खी पौधे से रस चूस लेती है और पौधे चिपचिपे हो जाते है इन के कारण मिर्च के पौधे पर जो फल लगते है यह भी बदसूरत होते है। इन का नियंतरण जल्द से जल्द करना है इन ही वायरस लगने का खतरा भी बढ़ जाता है। इन के नियंत्रण के लिए आप नीम तेल 30 से 35 मिली और थायमेथोक्सम 10 ग्राम इन के साथ डिफेंथुरॉन 20 ग्राम इन सब को आप 16 लीटर पानी में अच्छे से मिला के छिड़काव करें।

अन्य भी पढ़े :

आज के इस आर्टिकल में हम ने आप को मिर्च की फसल में प्रमुख रोग कीट (Mirch Ki Fasal Me Pramukh Rog Kit) इन के बारे में अच्छी जानकारी बताई है। कम लागत में अधिक मुनाफा यह आर्टिकल आप को सेम की खेती के लिए बहुत हेल्फ फूल होगा और यह आर्टिकल आप को पसंद भी आया होगा ऐसी हम उम्मीद रखते है। और इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा किसान भाई और अपने मित्रो को शेयर करे।

हमारे इस ब्लॉग ikhedutputra.com पर हर हमेेश किसान को खेती की विविध फसल के उन्नत बीज से लेकर उत्पादन और इन से होने वाली कमाई और मुनाफा तक की सारी बात बताई जाती है। इन के अलावा जो किसान के हित में सरकार की तरफ से चलाई जाने वाली विविध योजना और खेती के नई तौर तरीके के बारे में भी बहुत कुछ जानने को मिलेगा।

इन सब की मदद से किसान खेतीबाड़ी से अच्छी इनकम कर सकता है। इस लिया आप हमारी यह वेबसाईट आईखेडूतपुत्रा को सब्सक्राब करे ताकि आप को अपने मोबाईल में रोजाना नई आर्टिकल की नोटिफिकेशन मिलती रहे। इस आर्टिकल के अंत तक हमारे साथ बने रहने के लिए आप का बहुत बहुत धन्यवाद।

इस लेख को किसान के साथ शेयर करे...

नमस्कार किसान मित्रो, में Mavji Shekh आपका “iKhedutPutra” ब्लॉग पर तहेदिल से स्वागत करता हूँ। मैं अपने बारे में बताऊ तो मैंने अपना ग्रेजुएशन B.SC Agri में जूनागढ़ गुजरात से पूरा किया है। फ़िलहाल में अपना काम फार्मिंग के साथ साथ एग्रीकल्चर ब्लॉग पर किसानो को हेल्पफुल कंटेंट लिखता हु।

Leave a Comment