किसान सर्दी के मौसम में जीरे, गेहू, चने, सरसों, आलू आदि फसल को पाले से इस प्रकार बचाए

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Rate this post
Rabi Fasal Ko Pahle Se Kaise Bachaye

रबी फसल को पाले से कैसे बचाए (Rabi Fasal Ko Pahle Se Kaise Bachaye)

किसान सर्दी के मौसम मौसम में जीरे, गेहूं, चने, सरसों, मटर आदि फसल को पाले से कैसे बचाए

हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ने के लिए 👉🏿 यहां क्लिंक करे

रबी फसल को पाले से कैसे बचाए (Rabi Fasal Ko Pahle Se Kaise Bachaye) : हाल के समय में पुरे देश में कातिल ठंडी पड़ रही है। और हमारे मौसम विभाग ने इन से भी ठंड पड़ने की घोसना की है। इस लिए आगे चलके पाला पड़ने की संभावना है। और यह पाला रबी फसल में 80% तक का नुकशान पंहुचा शकता है। इस समय पर रबी फसल की बात करे तो किसान बंधू ने अलग अलग विस्तार में गेहूं, जीरे, मटर, सरसों, चने, आलू आदि फसल की बुवाई की है।

किसान इन सभी फसल को पाले से बचाने के लिए प्रबंध कर शकता है। और फसल में होने वाले भारी नुकशान से बचाव कर शकता है। यह पाला (जाकल) फसल के लिए बहुत नुकशान दायक साबित होता है। इन से फसल में अच्छे से दाने नहीं बनते और अधिक पाले से फसल का विकास भी रूक जाता है। इन सभी कारण फसल में उत्पादन कम प्राप्त होता है। और किसान को बहुत सारा नुकशान का सामना करना पड़ शकता है। हाल के समय जनवरी महीने में पाला पड़ने की संभावना अधिक होती है। इस लिए फसल को इन पाले से बचाने के लिए इस तरीके का इस्तेमाल कर शकते है।

रबी फसल को पाले से कैसे बचाए (Rabi Fasal Ko Pahle Se Kaise Bachaye)

आज के इस वेबसाइ ikhedutputra के माध्यम से हम जानेगे की फसल को पाले से कैसे बचाए। और यह पाला फसल को किस प्रकार नुकशान पहुंचाता है आदि बातो पर विस्तार से बात करेंगे। इस लिए आप इस आर्टिकल के अंत तक हमारे साथ बने रहे।

पला फसल को कैसे नुकशान पहुंचाता है?

ठंड के कारण कई बार पाले के प्रभाव से पौधे और पौधे के पत्तो एवं कोशिकाओं पर पानी बर्फ में बदल जाती है। इन के कारण पौधे का विकास अटक जाता है। और पौधा मर जाता है। कई बार तो पाले के कारण पुरे की पूरी फसल ख़राब हो जाती है और किसान की बहुत ही नुकशान होता है।

पाले का प्रभाव किन फसल में अधिक नुकशान पहुंचाता है?

हम सब जानते है की ठंड के मौसम में पाले का प्रकोप फसल में अधिक देखने को मिलता है। और इन सभी फसल में पाले का प्रकोप होने से अधिक नुकशान होता है। जैसे की मटर, चने, आलू, पपैया, केले,जीरा, सरसों, मिर्च, बैंगन, इन से भी अधिक रबी की फसल में पाले से नुकशान होता है। और सब से ज्यादा पाला की वजेसे जो नुकशान होता है तो जीरे और अफ़ीन इन में तो 80 से 90 प्रतिशत तक का नुकशान होता है।

Rabi Fasal Ko Pahle Se Kaise Bachaye

पाला से फसल को बचाने का सही तरीका

किसान को पाला से फसल को बचाने के लिए आप मध्य रात 12 से 2 बजे के बिच के समय में सुखी घास का धुआ करना है। पर इस बात का भी ध्यान रखे की ये धुआ आप उस जगह पर करे की जो ठंडी हवा चल रही है उस तरफ खेत की ऊपरी तरफ करे ताकि सारि फसल में धुआ अच्छे से लगाना चाहिए। यह धुआ करने से वातावरण में गर्मी बनी रहती है और पाला का प्रभाव फसल पर कम हो जाता है। यह धुआ करने से तापमान 4℃ तक का तापमान बढ़ जाता है।

इन के अलावा आप जीस दिशा से ठंडी हवा चलती है उस दिशा में आप कंतान (कपड़, साड़ी) अच्छे से बांध दे इन से ठंड हवा फसल पर तेजी से नहीं चल शक्ति और पाला का प्रकोप भी अधिक नहीं होगा। और सभी फसल में आप सिंचाई ना करे पर कई फसल में पाला का अधिक प्रकोप होने से हलकी सिंचाई भी करते है। इन से 2℃ तक का जमीन का तापमान बढ़ जाता है। पर यह सिंचाई आप सभी फसल में ना करे नहीं तो नुकशान भी हो शकता है।

फसल पर आप गंधक का स्प्रे करे

जीस दिन आप को लगे की आज पाला पड़ने का खतरा है तब फसल को इन पाला से बचने के लिए आप Kresoxim Methyl 44.3% W / W इन को 16 लीटर पानी में 20 मिली अच्छे से मिक्स कर के फसल पर अच्छे से छिड़काव करे। इन के अलावा आप गंधक तेजाब को एक हैक्टर के हिसाब से 1000 लीटर पानी में 1 लीटर गंधक के अच्छे से मिला के छिड़काव कर शकते है। और यह छिड़काव आप 15 दिन के अंतर में कर शकते है।

दवाई और गंधक से फसल को क्या लाभ होगा

किसान इन दवाई और गंधक का इस्तेमाल सरसों, चने, जीरा, आलू, मटर, आदि फसल में कर शकते है। इन से पौधे को पाले से तो बचाव होगा पर इन से पौधे को लोह तत्व की पूर्ति भी हो जाएंगी। इन से पौधे में रोग प्रतिरोधक शक्ति भी अधिक हो जाती है और कई प्रकार के रोग भी पौधे पर अटैक नहीं कर शकते है। और फसल जल्द पक के तैयार भी हो जाती है। इस प्रकार आप पौधे को इन पाला से नुकशान होनेसे बचा शकते है और किसान को नुकशान होने से भी बचा शकते है।

अन्य भी पढ़े :

आज के इस आर्टिकल में हम ने आप को रबी फसल को पाले से कैसे बचाए (Rabi Fasal Ko Pahle Se Kaise Bachaye) इन के बारे में अच्छी जानकारी बताई है। यह आर्टिकल आप को सेम की खेती के लिए बहुत हेल्फ फूल होगा और यह आर्टिकल आप को पसंद भी आया होगा ऐसी हम उम्मीद रखते है। और इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा किसान भाई और अपने मित्रो को शेयर करे।

हमारे इस ब्लॉग ikhedutputra.com पर हर हमेेश किसान को खेती की विविध फसल के उन्नत बीज से लेकर उत्पादन और इन से होने वाली कमाई और मुनाफा तक की सारी बात बताई जाती है। इन के अलावा जो किसान के हित में सरकार की तरफ से चलाई जाने वाली विविध योजना और खेती के नई तौर तरीके के बारे में भी बहुत कुछ जानने को मिलेगा।

इन सब की मदद से किसान खेतीबाड़ी से अच्छी इनकम कर सकता है। इस लिया आप हमारी यह वेबसाईट आईखेडूतपुत्रा को सब्सक्राब करे ताकि आप को अपने मोबाईल में रोजाना नई आर्टिकल की नोटिफिकेशन मिलती रहे। इस आर्टिकल के अंत तक हमारे साथ बने रहने के लिए आप का बहुत बहुत धन्यवाद।

इस लेख को किसान के साथ शेयर करे...

नमस्कार किसान मित्रो, में Mavji Shekh आपका “iKhedutPutra” ब्लॉग पर तहेदिल से स्वागत करता हूँ। मैं अपने बारे में बताऊ तो मैंने अपना ग्रेजुएशन B.SC Agri में जूनागढ़ गुजरात से पूरा किया है। फ़िलहाल में अपना काम फार्मिंग के साथ साथ एग्रीकल्चर ब्लॉग पर किसानो को हेल्पफुल कंटेंट लिखता हु।

Leave a Comment

buttom-ads (1)