मानसून में लगाए यह 3 बेल वाली सब्जियां उत्पादन मिलेगा तगड़ा

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Rate this post
Barish Ke Mausam Me Konsi Sabji Lagaye

बारिश के मौसम में कौन सी सब्जियां उगाएं (Barish Ke Mausam Me Konsi Sabji Lagaye) : बारिश का मौसम शुरू हो गया है और धरती पर बारिश की बूंदे भी टपकने लगी है ऐसे में कई लोग घर पर ही तरह तरह की सब्जियां लगते है और हर दिन ताजी सब्जी का स्वाद लेते है। और जुलाई महीना और अगस्त महीना विविध सब्जयों की खेती के लिए सब से सही माना जाता है।

कई लोग को गार्डन का शौक होता है यह विविध सब्जयों और फूलो के पौधे गार्डन में लगते है। आज के इस ikhedutputra.Com के इस आर्टिकल में हम जानेंगे की बारिश के मौसम में कौन सी सब्जियां उगाएं (Barish Ke Mausam Me Konsi Sabji Lagaye) और इन की देखभाल कैसे करें इन सभी बाते पर विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे।

बारिश के मौसम में कौन सी सब्जियां उगाएं (Barish Ke Mausam Me Konsi Sabji Lagaye)

बारिश के दिनों में बेल वाली सब्जयों की बात करें तो तोरई, करेला, लौकी, खीरा, ककोड़ा इस प्रकार की बेल वाली सब्जिया लगाई जाती है। और इब्न सब्जियों के पौधे आप सीधे जमीन में या तो गमले या ग्रो बेंग में लगा शकते है। इन के अलावा आप भिंडी, ग्वार, मिर्च, पालक, मूली आप सब्जियों को भी गमले में लगा शकते है।

बारिश के मौसम में यह सब्जियों के पौधे अधिक वृद्धि करते है और इन में फल भी अधिक प्राप्त होते है। पर इन की देखभाल अच्छे से करने से उत्पादन ज्यादा और गुणवत्ता वाला प्राप्त होता है। जो बेल वाली सब्जी के पौधे है इन के अच्छे विकास और अच्छी गुणवत्ता वाले फल प्राप्त करने के लिए आप को दीवाल का सहारा या तो लकड़ी के डंडे का सहारा देना है। और जो पौधे के रूप में विकास करता है इन्हे किसी का सहारे की जरुरत नहीं है।

बारिश के दिनों में पौधे की देखभाल कैसे करें

बारिश के मौसम में गमले में किसी भी सब्जियों के बीज की बुवाई करने से पहले आप बीज उन्नत किस्म का पसंद करें और जो गमले में बीज बुवाई करनी है उस गमले में उपजाव मिटी भर ने से पहले इस मिट्टी में गोबर की खाद और वर्मीकम्पोष्ट अच्छे से मिक्स करना है। इन के बाद आप उस गमले में किसी भी सब्जी वर्गी पौधे के बीज की बुवाई करें। और जब गमले में बीज की बुवाई करें तब आप उस गमले में बीज से बीज की दुरी 8 से 10 इंच की रखे और बीज की गहराई 1 से 1.5 इंच की रखनी। है

बीज से पौधा अंकुरित हो जाए तब इस को नियमित सिंचाई करें और बेल वाला पौधा है तो किसी दीवाल या तो लकड़ी के डंडे का सहारा देना है। ताकि पौधे जमीन से ऊपर विकास करें और बहुत कम कीट और रोग अटैक करेंगे। और 2 से 3 सप्ताह में एक बार फिर से गोबर की खाद देनी है।

पौधे के आस पास खरपतवार नहीं होना चाहिए अगर कई पर खरपतवार दिखाई दे तब तुरंत इन को पौधे के पास से हटाना है इन की वजे से ही कई रोग और बीमारी लगती है। और कीट और रोग का अटैक हो तो आप को किसी जैविक कीटनाशक का इस्तेमाल करना है और पौधे को उस रोग और कीट से मुक्त करना है।

बारिश के दिनों में आप इस प्रकार घर पर ही कई तरह तरह की सब्जयों के पौधे लगा शकते है। और हर दिन ताजा और अच्छी गुणवत्ता वाली सब्जियों के फल प्राप्त कर के इन का स्वाद ले शकते है।

अन्य भी पढ़े :

आज के इस आर्टिकल में हम ने आप को बारिश के मौसम में कौन सी सब्जियां उगाएं (Barish Ke Mausam Me Konsi Sabji Lagaye) इन के बारे में अच्छी जानकारी बताई है। कम लागत में अधिक मुनाफा यह आर्टिकल आप को सेम की खेती के लिए बहुत हेल्फ फूल होगा और यह आर्टिकल आप को पसंद भी आया होगा ऐसी हम उम्मीद रखते है। और इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा किसान भाई और अपने मित्रो को शेयर करे।

हमारे इस ब्लॉग ikhedutputra.com पर हर हमेेश किसान को खेती की विविध फसल के उन्नत बीज से लेकर उत्पादन और इन से होने वाली कमाई और मुनाफा तक की सारी बात बताई जाती है। इन के अलावा जो किसान के हित में सरकार की तरफ से चलाई जाने वाली विविध योजना और खेती के नई तौर तरीके के बारे में भी बहुत कुछ जानने को मिलेगा।

इन सब की मदद से किसान खेतीबाड़ी से अच्छी इनकम कर सकता है। इस लिया आप हमारी यह वेबसाईट आईखेडूतपुत्रा को सब्सक्राब करे ताकि आप को अपने मोबाईल में रोजाना नई आर्टिकल की नोटिफिकेशन मिलती रहे। इस आर्टिकल के अंत तक हमारे साथ बने रहने के लिए आप का बहुत बहुत धन्यवाद।

इस लेख को किसान के साथ शेयर करे...

नमस्कार किसान मित्रो, में Mavji Shekh आपका “iKhedutPutra” ब्लॉग पर तहेदिल से स्वागत करता हूँ। मैं अपने बारे में बताऊ तो मैंने अपना ग्रेजुएशन B.SC Agri में जूनागढ़ गुजरात से पूरा किया है। फ़िलहाल में अपना काम फार्मिंग के साथ साथ एग्रीकल्चर ब्लॉग पर किसानो को हेल्पफुल कंटेंट लिखता हु।

Leave a Comment