सोयाबीन की फसल से रेकॉर्डतोड़ उत्पादन के लिए फर्टिलाइजर डोस और स्प्रिंग कॉमिनेशन

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
3.3/5 - (3 votes)
Soybean Ki Fasal Me Kaun Si Khad Dena Chahiye

सोयाबीन की फसल में कौन सा खाद देना चाहिए? (Soybean Ki Fasal Me Kaun Si Khad Dena Chahiye) : नमस्कार किसान बंधू आज के इस आर्टिकल के अंदर आप सभी का दिल से स्वागत है। किसान बंधू अगर आप सोयाबीन की फसल कर रहे हो तो सोयाबीन की फसल में कौन सा फर्टिलाइजर का डोज देना है और कौन सा स्पेशल कॉमिनेशन स्प्रेइंग के लिए डाले देना है।

इस डोस से सोयाबीन का उत्पादन बंपर मिलने वाला है। आज के इस ikhedutputra.Com के इस आर्टिकल के माध्यम से हम जानेंगे की सोयाबीन की फसल में कौन सा खाद देना चाहिए? (Soybean Ki Fasal Me Kaun Si Khad Dena Chahiye) जीस की मदद से सोयाबीन की फसल से अधिक उत्पादन प्राप्त हो और अधिक कमाई हो शके।

सोयाबीन की फसल में कौन सा खाद देना चाहिए? (Soybean Ki Fasal Me Kaun Si Khad Dena Chahiye)

सोयाबीन की फसल में यह फर्टिलाइजर का डोज आप को तब देना है जब सोयाबीन के पौधे 5 से 6 पतियों का हो जाये तब देना है। सोयाबीन की फसल में आप बेसल डोज की बात करें तो आप सिंगल फास्फेट का इस्तेमाल तो कर शुके होंगे। पर दूसरा डोज कौन देना है इन के बारे में धिक् जानकारी प्राप्त करेंगे। इन में आप एक एकड़ के हिसाब से यूरिया के साथ फेरस सल्फेट लेना है इन में यूरिया 50 किलोग्राम और फेरस सल्फेट 10 किलोग्राम का इस्तेमाल करना है।

सोयाबीन की फसल करने वाले कई किसान ऐसे भी है जो इन से भी अधिक उत्पादन प्राप्त करना चाहते है। यानि के बंपर उत्पादन प्राप्त करना है तो आप को सिंचाई के साथ एक डोज देना है और यह डोज आप ड्रिप विधि से या तो सीधी सिंचाई में भी दे शकते है। इन में खुला पानी की सिंचाई करते है तो आप को किसी ड्रम की जरूरत होगी।

ड्रम में आप को एक एकड़ के हिसाब से फेरस सल्फेट को 10, 20, 30 किलोग्राम की मात्रा से देना है इन से अधिक नहीं। और सोयाबीन की फसल में फेरस सल्फेट की मात्रा अधिक मिलने से उत्पादन बंपर मिलेगा। इन में ड्रिप विधि से देते है तो आप को 10 किलोग्राम काफी है पर ड्रम की मदद से दे रहे है तो आप 10, 20, 30 किलोग्राम तक दे शकते है। सोयाबीन की फसल में फर्टिलाइजर का डोज कम्पलीट हो गया।

फेरस सल्फेट का इस्तेमाल करने से सोयाबीन के पौधे का फुटाव अधिक होगा और फलियों का आकर भी अधिक होगा। इन सभी में फेरस सल्फेट काम करता है। पर फलियों में मौजूद डेन का वजन बढ़ाने के लिए क्या करना है। यह जानले।

सोयाबीन की फसल में स्प्रिंग कॉमिनेशन कौन सा और कब देना है?

सोयाबीन की फसल में स्प्रिंग कॉमिनेशन कब और कितना देना है इन के बारे में अच्छे से पहले जानले वार्ना नुकशान भी हो शकता है या तो जो रिजल्ट चाहिए वे नहीं मिलेंगे इस लिए आप अच्छे से समजले। स्प्रिंग कॉमिनेशन का इस्तेमाल आप को कब करना है यह समजले यह यह स्प्रिंग कॉमिनेशन आप को सोयाबीन की फसल में फ्लावरिंग के समय डालना है।

जब सोयाबीन की फसल में फलिया बननी स्टार्ट होती है तब आप को यह स्प्रिंग कॉमिनेशन का इस्तेमाल करना है। इन में आप कुमानेल जो 500 एमएल 200 लीटर पानी के हिसाब से इन के साथ हम 0:52:34 का 500 ग्राम या तो आप 0:12:61 का 500 ग्राम के दर से इस्तेमाल कर शकते है। इन के साथ हमें लेना है गोदरेज का डब्बल लेना है। डबल होमो ब्रास लाइड किसी भी कंपनी का चलता है इन का डोज कंपनी का 200 एमएल का है। पर आप 100 एमएल लगे तब भी रिजल्ड बढ़िया मिलेंगे।

इन के साथ हमें सिलिकॉन पावडर जो 50 प्रतिशत वाला है 500 ग्राम के दर से लेना है। इन के साथ एक अलीका भी लेना है 100 एमएल की मात्रा से लेंगे यह अलीका का इस्तेमाल करने से कई इल्ली और कीट का नियंत्रण होता है। इस प्रकार आप सोयाबीन की फसल में यह स्प्रिंग कॉमिनेशन देना है।

  • कुमानेल 500 एमएल 200 लीटर पानी में
  • 0:52:34 का 500 ग्राम या तो 0:12:61 का 500 ग्राम
  • गोदरेज का डब्बल 100 एमएल
  • सिलिकॉन पावडर 50% को 500 ग्राम
  • अलीका 100 एमएल की मात्रा से
  • यह सब एक साथ मिला के स्प्रिंग कॉमिनेशन डालना है उत्पादन देखकर आप की आंखे फटी ही रह जाएँगी।

अन्य भी पढ़े :

आज के इस आर्टिकल में हम ने आप को सोयाबीन की फसल में कौन सा खाद देना चाहिए? (Soybean Ki Fasal Me Kaun Si Khad Dena Chahiye) इन के बारे में अच्छी जानकारी बताई है। कम लागत में अधिक मुनाफा यह आर्टिकल आप को सेम की खेती के लिए बहुत हेल्फ फूल होगा और यह आर्टिकल आप को पसंद भी आया होगा ऐसी हम उम्मीद रखते है। और इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा किसान भाई और अपने मित्रो को शेयर करे।

हमारे इस ब्लॉग ikhedutputra.com पर हर हमेेश किसान को खेती की विविध फसल के उन्नत बीज से लेकर उत्पादन और इन से होने वाली कमाई और मुनाफा तक की सारी बात बताई जाती है। इन के अलावा जो किसान के हित में सरकार की तरफ से चलाई जाने वाली विविध योजना और खेती के नई तौर तरीके के बारे में भी बहुत कुछ जानने को मिलेगा।

इन सब की मदद से किसान खेतीबाड़ी से अच्छी इनकम कर सकता है। इस लिया आप हमारी यह वेबसाईट आईखेडूतपुत्रा को सब्सक्राब करे ताकि आप को अपने मोबाईल में रोजाना नई आर्टिकल की नोटिफिकेशन मिलती रहे। इस आर्टिकल के अंत तक हमारे साथ बने रहने के लिए आप का बहुत बहुत धन्यवाद।

इस लेख को किसान के साथ शेयर करे...

नमस्कार किसान मित्रो, में Mavji Shekh आपका “iKhedutPutra” ब्लॉग पर तहेदिल से स्वागत करता हूँ। मैं अपने बारे में बताऊ तो मैंने अपना ग्रेजुएशन B.SC Agri में जूनागढ़ गुजरात से पूरा किया है। फ़िलहाल में अपना काम फार्मिंग के साथ साथ एग्रीकल्चर ब्लॉग पर किसानो को हेल्पफुल कंटेंट लिखता हु।

Leave a Comment